भारतरत्न ए पी जे अब्दुल कलाम के १० प्रेरणादायी विचार…! – दि फिअरलेस इंडियन
Home / तथ्य / भारतरत्न ए पी जे अब्दुल कलाम के १० प्रेरणादायी विचार…!

भारतरत्न ए पी जे अब्दुल कलाम के १० प्रेरणादायी विचार…!

  • Shyam kadav
  • July 27, 2017
Follow us on

१९७४ में भारत द्वारा पहले मूल परमाणु परीक्षण के बाद से दूसरी बार १९९८ में भारत के पोखरान-द्वितीय परमाणु परीक्षण में एक निर्णायक, संगठनात्मक, तकनीकी और राजनैतिक भूमिका निभानेवाले ए.पी.जे.अब्दुल कलाम भारत के उन प्रमुख वैज्ञानिको में से एक है. कलाम सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी व विपक्षी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस दोनों के समर्थन के साथ २००२ में भारत के राष्ट्रपति चुने गए. पांच वर्ष की अवधि की सेवा के बाद, वह शिक्षा, लेखन और सार्वजनिक सेवा के अपने नागरिक जीवन में लौट गए. कलाम अपने विचारों के जरिये हर किसी को प्रोस्ताहित करते है. उनके विचार ही उनकी पहचान थी जिससे हर कोई प्रेरित होता है. ए पी जे अब्दुल कलाम ऐसे ही प्रेरणादायी विचार हम आप को बता रहे है.

१.एटीट्युड – एटीट्युड याने किसी भी मामले को लेकर हमारा नजरिया या रवयिया. वैसे ते एटीट्युड के बारेमे कलाम साहब बोलते थे की बारिश दौरान सारे पक्षी आश्रय की तलाश करते है लेकिन बाज बादलों के ऊपर उड़कर बारिश को ही अवॉयड कर देता है. इसका मतलब यह साफ है की समस्याए सामान्य है लेकिन आप का एटीट्युड इनमे डिफ़रेंस पैदा करता है.

२.ताकत – कलाम साहब का कहना है की शिखर तक पहुँचने के लिए ताकत की जरुरत होती है,चाहे वह माउन्ट एवरेस्ट का शिखर हो या कोई दूसरा लक्ष. इसलिए हमेशा अपने लक्ष को पाने के लिए हमें पूरी ताकत लगनी चाहिए जिससे आप को सफलता जरुर मिलेगी.

३.कठिनाइयां – जहा एक तरफ हम कठिनाइया से घबराते है वही कलाम साहब का नजरिया कठिनाइ को लेकर बिलकुल अलग ही था. वे कहते थे इन्सान को कठिनायों की आवश्यकता होती है. क्यों की सफलता का आनंद उठाने के लिए यह जरुरी है. जब हम कठिनायों का सामना करते है तो हम अपने भीतर ही छिपे साहस के असीमित भंडार को खोज पाते है. जब हम असफल होते है, तभी हमें यह अहेसास हो पता है की संसाधन हमारे पास हमेशा होते है हमें केवल उन्हें खोजने और आगे बढ़ने की आवश्यकता होती है.

४.प्रतिभा – कलाम साहब हर वक्त यही कहते है की हम सभी के पास एक समान प्रतिभा नहीं होती लेकिन हम सभी के पास उन प्रतिभा को विकसित करना अवसर जरुर होता है.

५.सपने – आप के सपने याने आप जीवन में क्या पाना चाहते है इसे लेकर कलाम साहब इतने स्पष्ट थे की वे कहा करते थे की इससे पहले आप के सपने सच हो आप को सपने देखने होगे. याने जीवन को कभी भाग्य के भरोसे नहीं छोड़ना चाहिए. बल्कि हमें जीवन के लिए कुछ लक्ष बनाने चाहए और उसे पूरा करने के लिए पूरी ताकत लगनी चाहिए.

६.सनशाईन – सफलता को लेकर कलाम साहब कहा करते थे की अगर आप सूर्य की तरह चमकना चाहते हो तो पहले सूर्य की तरह जलना सीखो याने सफलता के लिए कड़ी मेहनत और लगातार प्रयास करने चाहिए.

७.हम अकेले नहीं है – कड़ी मेहनत करनेवालों के लिए कलाम साहब बहुत की कमाल की बात करते थे उनका कहना था की ऊपर आकाश की तरफ देखिये हम अकेले नहीं सारा ब्रम्हांड हमारे साथ है. सापाने देखने वाले और मेहनत करने वालों के सपने पुरे करने में समस्त ब्रम्हांड उनकी मदद करता है.

८.संघर्ष – कलाम साहब संघर्ष के बारेमे कहते थे की जीवन में कठिनायिया हमें बर्बाद करने नहीं आती बल्कि यह हामारे छुपे हुए सामर्थ्य और शक्तिओं को बाहर निकालने में हमारी मदद करती है. कठिनाईओं को यह जान लेने दो की आप उनसे भी कठिन हो.

९.आत्मविश्वास और कड़ी मेहनत – आत्मविश्वास का महत्व बतेत हुए कलाम साहब कहते थे की आत्मविश्वास और कड़ी मेहनत असफलता नामक बीमारी को मारने के लिए सबसे बड़ी दवाई है और यही आप को एक सफल व्यक्ति बनती है.

१०.आदत – हमारी अच्छी या बुरी आदत ही हमारा भविष्य तह कर सकती है. इसलिए कलाम साहब कहाते थे की हम आपका भविष्य नहीं बदल सकते लेकिन अपनी आदते जरुर बदल सकते है. और निच्छित रूप से आप की आदते आप का भविष्य बदल देगी.

Comments

You may also like

भारतरत्न ए पी जे अब्दुल कलाम के १० प्रेरणादायी विचार…!
Loading...