विदेशी दौरों पर भारतीय खिलाडियों का हो रहा अपमान देख अभिनव बिंद्रा ने की सरकार से अपील – दि फिअरलेस इंडियन
Home / मनोरंजन / विदेशी दौरों पर भारतीय खिलाडियों का हो रहा अपमान देख अभिनव बिंद्रा ने की सरकार से अपील

विदेशी दौरों पर भारतीय खिलाडियों का हो रहा अपमान देख अभिनव बिंद्रा ने की सरकार से अपील

  • hindiadmin
  • July 15, 2017
Follow us on

हाल ही बर्लिन में हुई पैरालिंपिक ऐथलीट के दौरान भारतीय खिलाड़ियों के सामने भारतीय मैनेजमेंट के कुप्रबंधन की जो घटना सामने आई, उससे अभिनव बिंद्रा अभी तक नाराज हैं. इस प्रकार की स्थिति से निपटने के लिए बिंद्रा ने खेल मंत्रालय को एक खास सलाह दी है. ओलिंपिक में स्वर्ण पदक विजेता बिंद्रा ने मंत्रालय से अपील की है कि जब भी भारतीय खिलाड़ी विदेशी दौरों पर हों, तो उनकी सुविधा के लिए एक खास हेल्प लाइन नंबर और एक खास फंड होना चाहिए, जिससे उन्हें किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने मे मदद मिल सके.

हाल ही में बर्लिन में संपन्न हुई पैरालिंपिक ऐथलीट के दौरान ५ खिलाड़ियों को होटल के बिल चुकाने के लिए पाई-पाई के लिए मोहताज होना पड़ा. खिलाड़ियों को बिल चुकाने के लिए दूसरों से पैसे मांगने की नौबत आ गई, जबकि सरकार की तरफ से यह राशि पहले ही आवंटित की जा चुकी थी. लेकिन पैरालिंपिक कमिटी ऑफ इंडिया के अधिकारियों के आपसी तालमेल में गड़बड़ी के चलते खिलाड़ियों को दूसरे देश में अपमानजनक स्थिति का सामना करना पड़ा.

जब यह घटना सामने आई तो अभिनव बिंद्रा ने ट्वीट कर इस घटना पर आक्रोश जताया था. उन्होंने खेल मंत्री और प्रधानमंत्री को टैग कर ट्वीट किया था. अपने इस ट्वीट में बिंद्रा ने लिखा था, ‘यह किसी भी तरह से बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. इस हालत के जिम्मेदारों की जवाबदेही तय होनी ही चाहिए.’ बिंद्रा के इस ट्वीट पर खेल मंत्री विजय गोयल ने संज्ञान लेते हुए इस पर कार्रवाई की बात कही थी.

अब अभिनव बिंद्रा ने खिलाड़ियों को इस अप्रिय स्थिति से बचाने के लिए खेल मंत्री को पत्र लिखा है. अपने इस पत्र में बिंद्रा ने कहा, ‘हाल ही बर्लिन में आयोजित हुए पैरालिंपिक ऐथलीट में भारतीय खिलाड़ियों के साथ जो घटना घटी, उसने ऐथलीट मैनेजमेंट पर बड़ा सवाल खड़ा किया है. भारतीय खेलों में इस तरह की चीजें अक्सर होती रहती हैं, जिसका खिलाड़ियों के मनोबल पर बुरा असर पड़ता है. इसके अलावा इस तरह की घटनाओं से अच्छे काम भी ढक जाते हैं.’

बिंद्रा ने लिखा, ‘इस स्थिति से निपटने के लिए मैं आपको एक सलाह देना चाहता हूं. जब भी हमारे खिलाड़ी विदेशी दौरों पर होते हैं, तो उनकी मदद के लिए एक हेल्पलाइन नंबर होना चाहिए, जिस पर उन्हें किसी भी अप्रिय घटना से निपटने में मदद मुहैया कराई जा सके. इसके अलावा खेल मंत्रालय को एक इमर्जेंसी फंड बनाना चाहिए, जिससे इस प्रकार की अनपेक्षित घटनाओं से समय पर निपटा जा सके. अगर खेल मंत्रालय ऐसा करता है, तो यह खिलाड़ियों के हित में शानदार शुरुआत होगी. बिंद्रा ने अपने इस पत्र की कॉपी को अपने ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट भी किया है.

Comments

You may also like

विदेशी दौरों पर भारतीय खिलाडियों का हो रहा अपमान देख अभिनव बिंद्रा ने की सरकार से अपील
Loading...