अक्षय कुमार को क्यों समझा जाता है सबसे अलग? – दि फिअरलेस इंडियन
Home / विचार / अक्षय कुमार को क्यों समझा जाता है सबसे अलग?

अक्षय कुमार को क्यों समझा जाता है सबसे अलग?

  • hindiadmin
  • September 9, 2017
Follow us on

बॉलीवुड में पिछले दो दशकों से ज्यादा वक्त से कामयाब अभिनेता के रूप पहचान बनाने वाले अक्षय कुमार आज अपना ५०वां जन्मदिन मना रहे हैं. अक्षय कुमार आज जिस किसी भी फिल्म में काम करते हैं वह अच्छी कमाई करती है. अक्षय कुमार सीमित बजट में हिट फिल्में दे रहे हैं. एक लिहाज से उन्हें हिंदी फिल्मों के सर्वाधिक कामयाब अभिनेता के रूप में देखा जा रहा है. अकसर अक्षय कुमार को तीनों खान शाहरूख, आमिर और सलमान के समकक्ष रखा जाता है. हाल ही में आमिर खान ने अपने एक बयान में अक्षय को सुपरस्‍टार बताया था.

इंडस्ट्री में काम करने वाले और अक्षय के करीबी लोगों का मानना है कि अक्षय बेहद अनुशासित स्टार हैं और वे वक्त के पाबंद है. इस बात को खुद उनके ‘हाउसफुल 3’ के कोस्टार्स एक टीवी शो में बता चुके हैं कि सेट पर अक्षय हमेशा टाइम से पहुंचते हैं. खुद अक्षय कुमार बताते हैं कि देर रात तक जागना उन्हें पसंद नहीं है. उनकी शूटिंग अकसर दिन को ही हो जाती है. अक्षय कुमार ने अपनी फिल्मी करियर की शुरुआत एक एक्शन हीरो के रूप में की, लेकिन बदलते दौर के साथ उन्होंने कॉमेडी फिल्मों में भी काम किया. लोगों ने उन्हें हर रूप में सराहा.

सौ से ज्यादा फिल्मों में काम कर चुके अक्षय कुमार की पहचान ‘खिलाडी’ सीरीज के फिल्मों से बनी. उन्होंने ‘खिलाड़ी’ , ‘खिलाड़ियों का खिलाड़ी’, ‘मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी’ जैसे फिल्मों में काम किया. एक्शन के साथ-साथ धीरे-धीरे उनकी इमेज एक रोमांटिक फिल्मों के अभिनेता के रूप में भी बनी. फिल्म ‘धड़कन’ में वे शिल्पा शेट्टी के साथ बेहद रोमांटिक करेक्टर में नजर आये और दर्शकों ने उन्हें पसंद किया.

कॉमेडी का रुख अपनाया –
हिंदी फिल्मों में साल 2000 के बाद कॉमेडी फिल्मों का दौर आया. दर्शकों की रूचि रोमांटिक व एक्शन फिल्म से हटकर कॉमेडी फिल्मों की ओर शिफ्ट हुई. अक्षय कुमार ने हवा के बदलते रूख को भांप लिया और इमेज बदलने के लिए कॉमेडी फिल्मों में भी काम करना शुरू किया. हास्य फिल्मों के लिए विशेष पहचान रखने वाले दक्षिण भारतीय फिल्मों के निर्देशक प्रियदर्शन ने अक्षय कुमार के साथ कई फिल्मों में काम किया. इन फिल्मों ने अक्षय को बतौर कॉमेडी हीरो  इंडस्ट्री में स्थापित कर दिया.

अक्षय के करियर की सर्वाधिक हिट कॉमेडी फिल्मों में फिर  गरम मसाला, ‘हेरा फेरी’ , ‘भागमभाग’, ‘वेलकम’ , ‘हे बेबी’ जैसी फिल्में हैं. अक्षय कुमार को ‘संघर्ष’ और ‘जानवर’ जैसे फिल्मों में एक्टिंग के लिए फिल्म आलोचकों ने सराहा. ४९ साल की उम्र में भी अक्षय कुमार सक्रिय हैं. क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने आज अलग अंदाज में उन्हें बधाई दी है. वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट किया है, बॉलीवुड के बेस्ट ऑलराउंडर, एक्शन भी, कॉमेडी, ड्रामा भी खेल जाओ.

एक अनोखा स्टार-
अक्षय कुमार एक ऐसे स्टार है जो हर तरह के रोल में बेस्ट है. शायद ही ऐसा कोई एक्टर हो जो यह सब कर पाता. हम बात कर रहे समाज पर आधारित फिल्मों की. जिनमें अक्षय कुमार ने बखूबी अपनी भूमिका निभाई. टॉयलेट:एक प्रेम कथा (जो समाज में फैली शौचालय की समस्या को उजागर करती है), एयरलिफ्ट(सच्ची घटना पर आधारित इस फिल्म में अक्षय ने इराक और कुवेत वॉर के दौरान फंसे भारतीयों को निकालने वाले एक बिज़नेस मैन का रोल निभाया था), रुस्तम (यह फिल्म मर्डर मिस्ट्री पर आधारित है जिसमें अक्षय ने कमांडर का रोल निभाया है). बहुत सारी ऐसी फिल्मे उन्होंने की है, जैसे स्पेशल २६, खट्टा मीठा, जॉली एलएलबी-२ आदि. हर बार अक्षय ने इन फिल्मों के जरिए एक संदेश देना का प्रयास किया है और लोगों ने उन्हें सराहा भी है.

देश भक्त की छवि
१९९३ में आई फिल्म ‘सैनिक’ में अक्षय ने एक देशभक्त सैनिक का रोल निभाया. देशभक्ति के रोल्स का जो सफर उस समय शुरू हुआ वो ‘हॉलीडे’ (२०१४), ‘बेबी'(२०१५) और ‘नाम शबाना’ (२०१७) के साथ आज तक बदस्तूर जारी है. छब्बीस साल के अपने करियर में अक्षय बीस से भी ज्यादा ऐसी फिल्मों में देशभक्त पुलिस वाले या वीर सिपाही की भूमिका निभा चुके हैं.

अक्षय ने न केवल कॉमेडी में बल्कि समय समय पर लीक से हट कर बनने वाली फिल्मों में भी अपना हाथ आजमाया है. इनमें संघर्ष (१९९०), तसवीर ८X१० (२००९), और ओएमजी (२०१२) प्रमुख हैं. इसके साथ साथ अक्षय ने सामाजिक सरोकार वाली फिल्म करके यह दिखा दिया है कि वे तीनों खानों की तरह किसी खास इमेज में टाइपकास्ट नहीं हैं बल्कि हर तरह का रोल निभाना जानते हैं. इसलिए अक्षय कुमार है सबसे हटके.
ALL IN ONE!!!

Comments

You may also like

अक्षय कुमार को क्यों समझा जाता है सबसे अलग?
Loading...