मुख्यमंत्री ने की स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार योजना शुरू करने की घोषणा – दि फिअरलेस इंडियन
Home / समाचार / मुख्यमंत्री ने की स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार योजना शुरू करने की घोषणा

मुख्यमंत्री ने की स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार योजना शुरू करने की घोषणा

  • hindiadmin
  • May 6, 2017
Follow us on

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने शुक्रवार को स्कूली शिक्षा व साक्षरता विभाग के कार्यों की समीक्षा की. मुख्यमंत्री ने विद्यालयों के लिए स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार योजना शुरू करने की घोषणा की. इसके तहत प्रत्येक तीन माह पर सबसे स्वच्छ विद्यालय को एक लाख रुपये का पुरस्कार दिया जायेगा. स्वच्छ विद्यालय के लिए शौचालय की सफाई सबसे अधिक आवश्यक होगी.

लातेहार, गिरिडीह, बोकारो एवं पश्चिमी सिंहभूम में अनाथ/असहाय बच्चों के लिए आवासीय विद्यालयों की स्थापना की जायेगी. ट्रैफिकिंग  की शिकार  बच्चियों के लिए रांची एवं पश्चिमी सिंहभूम में एक-एक  आवासीय  विद्यालय खोला जायेगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि कि स्कूल में मध्याह्न भोजन के लिए अनाज की आपूर्ति अब जन–वितरण प्रणाली की दुकानों के माध्यम से की जायेगी.  प्रत्येक विद्यालय में एलपीजी गैस की भी व्यवस्था की जा रही है. मुख्यमंत्री ने पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि  वर्तमान में शिक्षकों के खाली पदों को भरने के साथ–साथ आगामी पांच वर्षों में होनेवाली रिक्तियों का भी आकलन करें.

राज्य में २६३७० बच्चों के लिए राज्य के अंतर्गत तथा पांच हजार बच्चों के लिए राज्य के बाहर शैक्षणिक भ्रमण की योजना बनायी गयी है.  गरमी की छुट्टी में ग्रामीण इलाके के स्कूली बच्चों को शैक्षणिक भ्रमण पर शिमला ले जाया जायेगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के ७० वर्षों बाद जहां लगभग दस हजार स्कूलों में बेंच-डेस्क उपलब्ध था, वहीं मात्र दो वर्ष में १५ हजार स्कूलों को बेंच-डेस्क उपलब्ध कराया गया है. मई अंत तक सभी विद्यालयों में बेंच-डेस्क उपलब्ध करा दिया जायेगा. मुख्यमंत्री ने स्कूलों में रेन वाटर हार्वेस्टिंग की व्यवस्था करने को कहा.  नेतरहाट व इंदिरा गांधी बालिका विद्यालय की तर्ज पर सभी प्रमंडल में स्कूल खोला जायेगा. बैठक में मुख्य सचिव  राजबाला वर्मा, विकास आयुक्त अमित खरे, मुख्यमंत्री के  प्रधान सचिव  संजय कुमार, मुख्यमंत्री के सचिव  सुनील कुमार बर्णवाल समेत शिक्षा विभाग के अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे.

१२५ पंचायत बना जीरो ड्रॉप आउट : शिक्षा मंत्री

शिक्षा मंत्री डॉ. नीरा यादव ने कहा कि ड्रॉप आउट दर में सुधार के लिए जीरो ड्रॉप आउट पंचायत की परिकल्पना की गयी है. चरणबद्ध तरीके से पंचायतों को ड्राॅप आउट मुक्त करने की योजना तैयार की गयी है. अब तक १२५ पंचायत को जीरो ड्रॉप आउट घोषित किया जा चुका है. स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग की  सचिव आराधना पटनायक ने बताया कि २५३३७ विद्यालयों में बेंच–डेस्क एवं २५११० विद्यालयों में विद्युतीकरण का कार्य पूरा किया जा चुका है. १० हजार विद्यालयों में बिजली का कनेक्शन भी दिया जा चुका है.

सरकारी विद्यालयों को एक-एक टैब दिया जायेगा.  वर्तमान वित्तीय वर्ष में एक लाख २२ हजार छात्राओं को  मुख्यमंत्री विद्यालक्ष्मी योजना  का लाभ मिलेगा.  इसके तहत  कक्षा पांच उर्तीण  अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति की बालिकाओं  के  नाम से बैंक/पोस्ट ऑफिस में दो हजार रुपये जमा किया जाता है.

 

Comments

You may also like

मुख्यमंत्री ने की स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार योजना शुरू करने की घोषणा
Loading...