नहीं चली कांग्रेस की ‘स्टेट बैंक ऑफ टोमैटो’, तो कार्यकर्ता बेचने चल पड़े टमाटर – दि फिअरलेस इंडियन
Home / विचार / नहीं चली कांग्रेस की ‘स्टेट बैंक ऑफ टोमैटो’, तो कार्यकर्ता बेचने चल पड़े टमाटर

नहीं चली कांग्रेस की ‘स्टेट बैंक ऑफ टोमैटो’, तो कार्यकर्ता बेचने चल पड़े टमाटर

  • hindiadmin
  • August 4, 2017
Follow us on

अब कांग्रेस के क्या बुरे दिन आए है जो चल पड़े है टमाटर बेचने. इनके इतने भी क्या बुरे दिन आ गए जो इन्हें रास्तों पर टमाटर बेचना पड़ रहा है. चलिए तो देखते है आखिर टमाटर बेचने का क्या है मामला. जरासल टमाटर के चढ़ते दामों को लेकर सरकार को घेरने की कोशिश में उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने शुक्रवार को राजधानी लखनऊ में प्रदेश सचिव शैलेन्द्र तिवारी की अगुवाई में कार्यकर्ताओं ने विधान भवन के सामने टमाटर ठेले पर रखकर १० रूपये प्रति किलोग्राम बेचे. ठेले पर लगे बैनर में टमाटर के आये अच्छे दिन लिखा था.

तिवारी ने कहा, टमाटर के चढ़ते दाम का विरोध करने के लिये हमने यह तरीका अपनाया है. हम आम आदमी के प्रति अपनी चिंता जाहिर करने के लिये कम दाम पर टमाटर बेच रहे हैं. यह विडम्बना ही है कि सरकार ना तो रियायती दाम पर टमाटर बेचने के लिये बिक्री केन्द्र खोल रही है और ना ही टमाटर के बढ़ते दामों पर नियंत्रण के लिये कुछ कर रही है.

इससे पहले पार्टी ने स्टेट बैंक ऑफ टोमैटो भी खोला था. यह युवक कांग्रेस के कार्यालय में संचालित किया जा रहा है. सामान्य बैंकों की तर्ज पर चलाये जा रहे टोमैटो बैंक में कई दिलचस्प योजनाएं भी चलायी जा रही हैं. मसलन टमाटर जमा करके उन्हें दोगुना करना, टमाटर पर रियायती कर्ज, लॉकर सुविधा, टमाटर गिरवी रखकर ८० प्रतिशत तक का कर्ज तथा टमाटर जमा करके अच्छा ब्याज अजर्ति करना इत्यादि.

शायद कांग्रेस का स्टेट बैंक ऑफ टोमैटो चला नहीं इसीलिए उन्हें विधान भवन के सामने जाकर टमाटर बेचना पड़ रहा है. लोगों को भी इनकी चापलूसी समझ नहीं आ रही कल लोगों से बैंक के नाम पर टमाटर जमा करवाए और ज्यादा का वादा करके आज वही टमाटर घूम-घूमकर बेच रहे है. इतने साल लोगों को धोका देकर भी लोग फिरसे उन्हीं के झांसे में आते है. भले कौन ये वादा करेगा की, आज जमा करवाव और ६ महीने में डबल लेके जाव. इधर लोगों को कल बोला हुआ याद नहीं रहता तो छह महीने के बाद क्या याद रहेगा. और ये तो फिरभी राजनीती है सब झूठ, बोलते कुछ है और करते कुछ है. आज भी समय है इन लोगों से संभल जाइए नहीं तो फिरसे ये कांग्रेस वाले आपातकाल ला खड़ा कर देंगे. आज टमाटर बेच रहे है कल लोगों की खरीद-फ़रोख्त शुरू कर देंगे. इसलिए लोगों को पहचानना सीखिए. अब भी समय है.

Comments

You may also like

नहीं चली कांग्रेस की ‘स्टेट बैंक ऑफ टोमैटो’, तो कार्यकर्ता बेचने चल पड़े टमाटर
Loading...