नहीं रही दुनिया की सबसे वजनी महिला इमान अहमद – दि फिअरलेस इंडियन
Home / समाचार / नहीं रही दुनिया की सबसे वजनी महिला इमान अहमद

नहीं रही दुनिया की सबसे वजनी महिला इमान अहमद

  • hindiadmin
  • September 25, 2017
Follow us on

मिस्र की रहने वाली दुनिया की सबसे भारी महिला इमान अहमद का निधन हो गया है. अबू धाबी में इलाज के दौरान उन्होंने आखिरी सांस ली. अबू धाबी के बुर्जिल अस्पताल में वजन कम करने के लिए उनका इलाज चल रहा था. रिपोर्ट्स के मुताबिक आज (25 सितंबर) सुबह 4 बजकर 35 मिनट पर उनकी मौत हुई. डॉक्टरों के मुताबिक लगातार बिगड़ती स्थिति की वजह से उनकी मौत हुई. इमान की किडनी काम नहीं कर रही थी साथ उन्हें दिल की बीमारी भी हो गई.

अस्पताल के एक अधिकारी ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से लगभग 20 स्पेशलिस्ट डॉक्टर इमान का इलाज कर रहे थे. बता दें कि जब इमान अहमद इलाज के लिए मुंबई आई थी तो उनका वजन 500 किलोग्राम से ज्यादा था. मुंबई के सैफी अस्पताल ने इमान की मुफ्त सर्जरी करके उनका वजन 300 किलोग्राम कम कर दिया. मुंबई में तीन महीने तक रहने के बाद उन्हें आगे के इलाज के लिए संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के वीपीएस हेल्थकेयर के बुर्जील अस्पताल में भर्ती कराया गया. इमान चार मई को यूएई पहुंची थी.

कैसे हुई मौत-
इमान का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने कहा कि पहले तो उनकी हालत में काफी सुधार हो रहा था. इमान डिप्रेशन से उबर रही थीं, और उनकी मोबिलिटी संबंधी परेशानी भी दूर हो रही थी. डॉक्टरों के मुताबिक उनकी मौत अचानक हुई है. बुर्जिल अस्पताल के डिप्टी मेडिकल डायरेक्टर ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि उन्हें एक सेप्टिक शॉक हुआ इसकी वजह से उनके शरीर में जबर्दस्त संक्रमण हो गया. शनिवार को उन्हें आईसीयू में भर्ती किया गया. पिछले 24 घंटों में उनकी हालत बिगड़ गई और वह मल्टी ऑर्गन फेल्यूर का शिकार हो गईं.

eman ahmed passes away साठी प्रतिमा परिणाम

कौन थी इमान-
मिस्र की रहने वाली इमान का वजन युवा होने पर नहीं बढ़ा, बल्कि जन्म से ही वो इस बीमारी की जकड़ में थीं. जन्म के वक्त इमान का वजन 5 किलो था. जब वो 11 साल की हुईं तो धीरे-धीरे उनका वजन तेज रफ्तार से बढ़ने लगा. इमान की हालत इतनी सीरियस हो गई कि पांचवी कक्षा में उन्हें स्कूल छोड़ना पड़ा.

स्ट्रोक के बाद बदल गई जिंदगी-
साल 2014 में इमान का वजन 300 किलो पार कर गया था. उनका केलेस्ट्रॉल लेवल भी काफी ज्यादा बढ़ गया. तभी आए एक स्ट्रोक ने उनकी जिंदगी में और परेशानियां ला खड़ा कीं. स्ट्रोक के बाद इमान को लकवा मार गया और उन्हें हमेशा के लिए बिस्तर से जकड़ के रख दिया.

चला कई बीमारियों का इलाज
2016 तक आते-आते इमान का वजन 500 किलो हो चुका था. उनका लिम्फेडेमा, वाटर रिटेंशन, टाइप 2 डायबटीज, हाइपरटेंशन और हाइपोथायरॉडिज्म का इलाज चल रहा था. उन्हें फेफड़े में भी काफी तकलीफ होती थी.

कई देशों में नहीं मिला कोई इलाज-
मिस्त्र और ग्रीस में कई डॉक्टर्स से संपर्क साधने के बावजूद जब उनका इलाज नहीं हो सका तो उनकी बहन ने ऑनलाइन कैंपेन शुरू किया. वो इमान को इलाज के लिए भारत लाना चाहती थीं. इसके लिए उन्होंने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से संपर्क किया.

Comments

You may also like

नहीं रही दुनिया की सबसे वजनी महिला इमान अहमद
Loading...