रजनीकांत की राजनीति में एंट्री का इशारा..! – दि फिअरलेस इंडियन
Home / मनोरंजन / रजनीकांत की राजनीति में एंट्री का इशारा..!

रजनीकांत की राजनीति में एंट्री का इशारा..!

  • Shyam kadav
  • May 19, 2017
Follow us on

अपनि रोमहर्षक स्टाइल,एक्शन और अभिनय के जरिये साऊथ सिनिमा जगत के महशूर सुपरस्टार रजनीकांत जल्दही राजनीति में आने के संकेत मिल रहे है. पाने स्टाइल और अपने काम के तरीके से रजनीकांत जल्दही राजनीति में रंग दिखाने की तैयारी में हैं? तमिलनाडु में लोगों के जेहन में बार-बार कौंध रहे इस सवाल पर रजनीकांत ने इस पर अब तक का सबसे बड़ा इशारा करते हुए कहा, यह सिस्टम सड़ चुका है और इसमें बदलाव के लिए बड़े सुधार की जरूरत है.

राजनीति और राजनेताओं के बारेमे केहते हुए उन्होंने कहा की ‘हमारे पास (एमके) स्टालिन, अंबुमणि (रामदौस) और सीमन जैसे अच्छे नेता है. लेनिक जब सिस्टम ही सड़ चुका है, तब हम क्या करें. इस सिस्टम को बदलने की जरूरत है और यह बदलाव लोगों की सोच से शुरू होना चाहिए, तभी हमारे देश की उन्नति होगी.

अपने चाहतों में भगवान की तरह पूजे जाने वाले इस सुपरस्टार ने कहा, ‘मेरा अपना पेशा, अपना काम है. मेरे ऊपर अपनी कुछ जिम्मेदारियां हैं और आपके पास अपने काम. इस लिए फ़िलहाल आप अपनी-अपनी जगहों पर जाएं और अपना काम करें. जब लड़ाई की जरूरत होगी, तब हम फिर मिलेंगे.

तमिल राजनीति में देखा जाये तो फिल्म सुपरस्टार सियासती गद्दी पे राज करते हुए हमने बोहोत बार देखे है. और उसमे ही जयललिता के निधन और डीएमके सुप्रीमो एम. करुणानिधि के सियासी तस्वीर से होने के बाद अब रजनीकांत के फैन्स को भरोसा है कि इस राजनीतिक खालीपन को वही प्रभावी ढंग से भर पाएंगे. ये चर्चाएं राजनीति में शामिल होने को लेकर रजनीकांत के हालिया बयानों से शुरू हुईं.

रजनीकांत की यह राजनैतिक टिपण्णी हलाकि कोई नयी नहीं है क्यों की इससे पहले उन्होंने जनता से सार्वजनिक रूप से कहा था कि वे जयललिता के पक्ष में मतदान ना करें . रजनीकांत ने तब कहा था कि अगर AIADMK फिर से चुनी गई, तो भगवान भी तमिलनाडु को नहीं बचा सकता. इसके बाद अम्मा वह विधानसभा चुनाव हार गई थीं और डीएमके-टीएमसी (तमिल मनीला कांग्रेस) को भारी जीत मिली थी.

वर्ष २००२ में आई रजनीकांत फिल्म बाबा में राजनीतिक शुरुआत करने के फिर संकेत दिए. रजनीकांत ने अभी हाल में भी कहा था कि राजनीति में आने की उनकी कोई इच्छा नहीं है, लेकिन अगर वह राजनीति में आएंगे तो पैसे के पीछे भागने वाले लोगों को बाहर का रास्ता दिखा देंगे. रजनीकांत के फैन्स पूरे तमिलनाडु में पोस्टर लगाकर उनसे राजनीति में आने, नेतृत्व करने और तमिलनाडु को बचाने की अपील कर रहते दिख रहे हैं. वहीं AIADMK को छोड़ अन्य कई राजनीतिक दलों ने उनसे अपने दल में शामिल होने का अनुरोध कर चुके हैं.

रजनीकांत के भरी भरकम चाहतों की वजह से हर कोई अपने पक्ष में लेने के लिए तरस रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित भारतीय जनता पार्टी के कई शीर्ष नेताओं का कहना है कि पार्टी में अभिनेता का स्वागत है. तमिलनाडु के बीजेपी नेता और केंद्रीय राज्यमंत्री पॉन राधाकृष्णन ने हाल में ही कहा था, अगर वह राजनीति में आते हैं, तो हम उनका स्वागत करते हैं. वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने भी वर्ष २०१४ में अपने चेन्नई दौरे के दौरान रजनीकांत से आवास पर उनसे मुलाकात की थी, जिसके बाद से उनके बीजेपी में शामिल होने की अटकलें जोरों पर हैं.

 

Comments

You may also like

रजनीकांत की राजनीति में एंट्री का इशारा..!
Loading...