गूगल की लैंगिक पॉलिसी पर सवाल, नौकरी देने में करता है पक्षपात – दि फिअरलेस इंडियन
Home / समाचार / गूगल की लैंगिक पॉलिसी पर सवाल, नौकरी देने में करता है पक्षपात

गूगल की लैंगिक पॉलिसी पर सवाल, नौकरी देने में करता है पक्षपात

  • hindiadmin
  • August 8, 2017
Follow us on

दुनिया की सबसे बड़ी टेक कंपनी गूगल की ‘लैंगिक पॉलिसी’ पर सवाल खड़े हो रहे हैं. कंपनी पर कर्मचारियों के साथ लैंगिक आधार पर भेदभाव करने का आरोप लगा है. यह आरोप गूगल के ही एक पूर्व कर्मचारी ने लगाया है. इसके बाद ‘गूगल एंड डाइवर्सिटी’ सोशल मीडिया पर ट्रेंड में है. सिलिकॉन वैली में लैंगिक आधार पर भेदभाव का मुद्दा गर्मा गया है.

दरअसल, एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने एक गोपनीय नोट में यह दलील दी कि शीर्ष तकनीकी पदों पर महिलाओं की तैनाती नहीं होने का कारण उनका पुरुषों से जैविक अंतर का होना है. उन्होंने लिखा, ‘हमें लैंगिक अंतर को लिंगभेद नहीं समझना चाहिए.’ इस इंजीनियर की तीखी आलोचना की गई, लेकिन उनका कहना है कि उन्हें गूगल के कई साथी के आभार प्रकट करते व्यक्तिगत संदेश मिले हैं. कंपनी के इंटरनल डिस्कशन बोर्ड पर पोस्ट किए गए इस पूरे लेख को टेक वेबसाइट ने छापा है.

पुरुषों से महिलाओं की क्षमताएं अलग-
इस लेख के लेखक का नाम ज़ाहिर नहीं हो पाया है है. इस लेखक ने लिखा है, ‘जैविक कारणों से पुरुषों और महिलाओं की क्षमताएं अलग अलग होती हैं, और ये अंतर यह बताने के लिए पर्याप्त हैं कि हम तकनीक और नेतृत्व के शीर्ष पदों पर पुरुषों के समान महिलाओं का प्रतिनिधित्व क्यों नहीं देखते.’

उन्होंने आगे लिखा, ‘आम तौर पर महिलाएं समाज कल्याण या कला के क्षेत्रों में नौकरियां पसंद करती हैं जबकि पुरुषों को कोडिंग अधिक पसंद है. इस पर प्रतिक्रिया देते हुए गूगल की नई विविधता प्रमुख डेनियल ब्राउन ने कहा, ‘इस मुद्दे पर इस नई बहस ने मुझे कुछ कहने के लिए मजबूर किया.’

विविधता कंपनी का मुलभुत हिस्सा है-
इंटरनल टेक वेबसाइट मदरबोर्ड के अनुसार उन्होंने कहा, ‘मैं या कंपनी इस लेख का न तो समर्थन या प्रोत्साहित करती है और न ही इसे बढ़ावा देती है.’

उन्होंने कहा, ‘विविधता और समावेश करना, लगातार विकसित करने को तत्पर हमारे मूल्यों और संस्कृति का एक मूलभूत हिस्सा हैं.’

उन्होंने आगे कहा, ‘एक कंपनी के रूप में हमें स्पष्ट रूप से विश्वास है कि विविधता और समावेश करना हमारी सफलता के लिए महत्वपूर्ण है, और हम इसके लिए लंबे समय के लिए प्रतिबद्ध रहेंगे.’

Comments

You may also like

गूगल की लैंगिक पॉलिसी पर सवाल, नौकरी देने में करता है पक्षपात
Loading...