सीएम योगी का बड़ा बयान, “सड़क पर नमाज पढ़ना सही तो थाने में जन्माष्टमी मनाना भी उचित” – दि फिअरलेस इंडियन
Home / समाचार / सीएम योगी का बड़ा बयान, “सड़क पर नमाज पढ़ना सही तो थाने में जन्माष्टमी मनाना भी उचित”

सीएम योगी का बड़ा बयान, “सड़क पर नमाज पढ़ना सही तो थाने में जन्माष्टमी मनाना भी उचित”

  • hindiadmin
  • August 17, 2017
Follow us on

लखनऊ में प्रेरणा जनसंचार एवं सिद्ध संस्थान के कार्यक्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ ने नमाज और जन्माष्टमी को लेकर बड़ा बयान दिया है. योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘अगर मैं सड़क पर ईद के दिन नमाज पढ़ने पर रोक नहीं लगा सकता, तो मुझे कोई अधिकार नहीं है कि मैं थानों में जन्माष्टमी के पर्व को रोकूं…कोई अधिकार नहीं है.’ सूबे की समाजवादी पार्टी पर बरसते हुए योगी ने कहा कि वे लोग जो खुद को यदुवंशी कहते हैं उन्होंने थानों और पुलिस लाइन्स में जन्माष्टमी मनाने पर रोक लगा दी थी. उन्होंने ये भी कहा कि उनका ये मानना है कि प्रार्थना और कीर्तन से पुलिस सिस्टम में सुधार हो सकता है.

सीएम योगी आदित्य नाथ ने सालाना कांवड़ यात्रा के दौरान बजने वाले डीजे और लाउडस्पीकर पर भी अपनी राय दी. योगी के मुताबिक कांवड़ यात्रा के दौरान डीजे और लाउडस्पीकर पर रोक नहीं लगेगी. उन्होंने कहा कि प्रशासन से इस बारे में उन्होंने बात की थी. योगी कहते है, ‘मैंने प्रशासन से कहा, मेरे सामने एक आदेश पारित करिये कि माइक हर जगह के लिए प्रतिबंधित होनी चाहिए, हर जगह बैन करो, और ये तय करिेये कि किसी भी धर्मस्थल में उसकी चहारदीवारी के बाहर लाउडस्पीकर की आवाज नहीं आनी चाहिए, क्या इसको लागू कर पाएंगे? अगर लागू नहीं कर सकते हैं तो फिर इसको भी हम लागू नहीं होने देंगे, यात्रा चलेगी.’ योगी ने कहा कि पहले अधिकारियों ने कहा कि कांवड़ यात्रा के दौरान डीजे और म्यूजिक सिस्टम पर रोक लगनी चाहिए। अधिकारियों के इस सुझाव पर योगी आदित्य नाथ ने कहा कि बिना संगीत के ये कांवड़ यात्रा होगी या शव यात्रा. योगी ने अधिकारियों को बताया, ‘मैंने कहा कि ये कांवड़ यात्रा है या शव यात्रा? अरे वो कांवड़ यात्रा में बाजे नहीं बजेंगे, डमरू नहीं बजेगा, ढोल नहीं बजेगा, चिमटे नहीं बजेंगे, लोग नाचेंगे गाएंगे नहीं, माइक नहीं बजेगा तो वो यात्रा कांवड़ यात्रा कैसे होगी.’

आरएसएस विचारक दीनदयाल उपाध्याय के बयानों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि गांव हो या शहर गणेश उत्सव मनाने पर भी किसी को आपत्ति नहीं होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि देश में सबको पर्व त्योहार मनाने का अधिकार है. योगी ने कहा, ‘हम सबके लिए कहेंगे, आप क्रिसमस भी मनाइए, कौन रोक रहा है, भारत के अंदर कभी नहीं रोका गया, आप नमाज भी पढ़िए, आराम से पढ़िए, कानून के दायरे में रहकर पढ़िए, कोई रोकेगा नहीं, लेकिन कानून का उल्लंघन कोई करेगा तो उस पर कहीं ना कहीं फिर टकराव पैदा होगा, और इसलिए इन मुद्दों को दीनदयाल उपाध्याय ने प्रखरता से उठाया था.’

सरकार बनने के बाद उन्होंने अवैध बूचड़खानों पर प्रतिबंध लगाए जाने को पहली उपलब्धि के तौर पर पेश किया. उन्होंने कांवड़ियों को दी गई सुरक्षा और सहूलियतें गिनाईं. साथ ही कर्जमाफी का जिक्र करते हुए कहा कि इसके लिए कोई अतिरिक्त टैक्स लगाकर फंड नहीं जुटाया गया, केवल तुष्टीकरण की योजनाओं का खर्च बचाकर व्यवस्था की गई.

Comments

You may also like

सीएम योगी का बड़ा बयान, “सड़क पर नमाज पढ़ना सही तो थाने में जन्माष्टमी मनाना भी उचित”
Loading...