चारे ने लालू को फिर बनाया बेचारा – दि फिअरलेस इंडियन
Home / समाचार / चारे ने लालू को फिर बनाया बेचारा

चारे ने लालू को फिर बनाया बेचारा

  • hindiadmin
  • March 20, 2018
Follow us on

चारा घोटाला मामले में राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की मुश्किले और भी ज्यादा बढ़ती दिखाई दे रही है। सीबीआय के स्पेशल कोर्टने लालू प्रसाद यादव को दुमाका कोषागार मामले में दोषी करार दिया है। वही अन्य आरोपी जग्गनाथ मिश्रा को सीबीआयने बरी कर दिया है।

कोर्टने लालू प्रसाद यादव को 6 केस में से 4 केस में आरोपी घोषित कर दिया है। सीबीआय द्वारा लालू प्रसाद यादव और जग्गनाथ मिश्रा के साथ अन्य 31 लोगों के खिलाफ यह मामला चल रहा था। तथा उन आरोपीयों मे से 19 लोगोंको कोर्ट ने दोषी करार दिया है। लालू प्रसाद यादव ने साल 1995 से 1996 तक, झारखंड़ के दुमातका कोषागार से 313 कोटी रुपये फर्जि तरिके से निकाले थे। सजा कि सुनवाई कोर्ट 21, 22 और 23 मार्च 2018 को करेगी।

तीन अन्य मामलों में पहले से सजायाप्ता हैं राजद अध्यक्ष
1. चाइबासा कोषागार से 37.70 करोड़ रु. की अवैध निकासी (आरसी 20 ए/96) में लालू को 30 सितंबर 2013 को पांच साल की सजा सुनाई गई थी।

2. देवघर कोषागार से 89.27 लाख रु. की अवैध निकासी (आरसी 64ए/96) में 6 जनवरी को 2018 को लालू को साढ़े तीन साल कैद की सजा सुनाई गई थी।

3. चाइबासा कोषागार से 33.62 करोड़ रु. की अवैध निकासी (आरसी68 ए/96) में 24 जनवरी 2018 को लालू दोषी करार दिए गए। 5 साल की सजा दी गई थी।
चारा घोटाले से संबधित मामले में लालू प्रसाद यादव को अभी तक ३ बार दोषी करार कर दिया गया है। फिलाल लालू प्रसाद यादव बिरसा मुंडा जेल में अपनी सजा काट रहे हैं।

अभी लालू पर 2 और मामलों में आना है फैसला
– लालू के खिलाफ चारा घोटाला के कुल छह मुकदमे दर्ज हैं
– अब तक चार मुकदमों में सजा सुनाई जा चुकी है। ये हैं-आरसी 20 ए/96, आरसी 64 ए/96, आरसी 68 ए/96 व आरसी 38ए/96
– झारखंड हाईकोर्ट से आरसी 64 ए/96 में जमानत खारिज। आरसी 68ए/96 में जमानत के बारे में आना है फैसला
– सीबीआई कोर्ट से 2 और मुकदमों में आना है फैसला। ये हैं-आरसी 47 ए/96 व आरसी 63 ए/96
– लालू को 2013 में 5 वर्ष, दूसरे मामले में 23 दिसंबर 2017 को साढ़े तीन वर्ष व तीसरे मामले में 24 जनवरी 2018 को 5 वर्ष की सजा मिली
– चारा घोटाला के अलावा लालू और उनके परिजनों पर 1000 करोड़ रुपए की बेनामी संपत्ति के भी मामले हैं। सीबीआई ने रेलवे के दो होटल को एक निजी कंपनी को देने के मामले में लालू को नामजद आरोपी बनाया हुआ है। ईडी, आयकर विभाग की कार्रवाई तेज रफ्तार में है।

मोदी-नीतीश ने मिलकर फंसाया : राबड़ी
पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कहा-नरेंद्र मोदी, नीतीश कुमार, सुशील कुमार मोदी यानी सबने मिलकर लालू जी को झूठे मामले में फंसा दिया। ये सारे लोग लालू जी से डरते हैं। इसलिए ऐसा किया। खैर, हम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं। हालांकि, कोर्ट से राहत की उम्मीद थी।

पीएम और सीएम का खेल : रघुवंश
कोर्ट की सुनवाई के बाद, आरजेडी नेता रघुवंश प्रसादने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नितीश कुमार के ऊपर निशाना साधा। उन्होंने कहा, लालू प्रसाद यादव को गुन्हेगार ठह़राने का नरेंद्र मोदी और नितीश कुमार का प्लॅन सफल रहा। अन्य केस की सज़ाह के जैसे इस केस में भी लालू प्रसाद यादव को क्या ५ साल कि सजा मिलेगी या फिर सजा कम होगी?

Comments

You may also like

चारे ने लालू को फिर बनाया बेचारा
Loading...