…तो क्या इसलिए अमरीकियों को बंदूक चाहिए? – दि फिअरलेस इंडियन
Home / विचार / …तो क्या इसलिए अमरीकियों को बंदूक चाहिए?

…तो क्या इसलिए अमरीकियों को बंदूक चाहिए?

  • hindiadmin
  • October 3, 2017
Follow us on

अमरीका के लास वेगास में एक संगीत समारोह के दौरान एक व्यक्ति द्वारा की गई गोलीबारी में कम से कम 50 लोगों की मौत हो गई और 400 से अधिक लोग घायल हो गए. अमरीका के इतिहास में अभी तक की यह सबसे घातक गोलीबारी की घटना है, जिसमें दिमागी तौर पर कमजोर एक अमरीकी बंदूकधारी ने अंधाधुंध फायरिंग करके उन लोगों की जान ले ली, जिसे वे जानते तक नहीं हैं.

अमरीका में आसानी से उपलब्ध गन के ऊपर सालों से चर्चा होती रही है. यहां तक कि राष्ट्रपति के चुनाव के समय भी बंदूक के अधिकार के ऊपर अमरीका के दोनों दलों के बीच मतभेद भी रहा. एक तरफ जहां रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रम्प बंदूक पर नियंत्रण करने को अधिकार को सीमित करना बता रहे थे, तो दूसरी ओर डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन ने इस अधिकार को सीमित करने पर अपनी सहमति जताई थी. चुनाव से पहले अमरीका के तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा था ‘मैंने कुछ महीने पहले कहा था, उससे कुछ महीने पहले भी कहा था और हर बार जब हम गोलीबारी की घटना देखेंगे तो दोबारा कहूंगा.

लास वेगास, अमरीका, गोलीबारी

इससे निपटने के लिए हमारा सोचना या प्रार्थना करना ही काफी नहीं है.’ हालांकि, ट्रम्प के राष्ट्रपति बनने के बाद शस्त्र नियंत्रण पर कानून बनाने की नीति फिर ठंढे बस्ते में चली गई लेकिन लास बेगास की घटना ने अमरीकियों के बंदूक रखने के अधिकार पर फिर से एक सवाल उठाया है. दरअसल अमरीका में बंदूक संस्कृति की जड़ें इसके औपनिवेशिक इतिहास, संवैधानिक प्रावधानों और यहां की राजनीति में देखी जा सकती हैं. कभी ब्रिटेन के उपनिवेश रहे अमरीका का इतिहास आजादी के लिए लडऩे वाले सशस्त्र योद्धाओं की कहानी रहा है. बंदूक अमरीकी आजादी के सेनानियों के लिए आंदोलन का सबसे बड़ा औजार रही. इसलिए यह नायकत्व और गौरव की निशानी बन गई.

लास वेगास, अमरीका, गोलीबारी

यही वजह है कि जब नागरिक अधिकारों को परिभाषित करने के लिए 15 दिसम्बर 1791 को अमरीकी संविधान में दूसरा संशोधन हुआ तो उसमें बंदूक रखने को एक बुनियादी अधिकार माना गया.

लास वेगास, अमरीका, गोलीबारी

इस संशोधन में कहा गया, ‘राष्ट्र की स्वाधीनता सुनिश्चित रखने के लिए हमेशा संगठित लड़ाकों की जरूरत होती है. हथियार रखना और उसे लेकर चलना नागरिकों का अधिकार है जिसका उल्लंघन नहीं होना चाहिए.’ अमरीका के पहले राष्ट्रपति जॉर्ज वाशिंगटन का भी कहना था कि बंदूक अमरीकी नागरिक की आत्मरक्षा और उसे राज्य के उत्पीडऩ से बचाने के लिए जरूरी है. यही वजह है कि जब भी बंदूकों पर लगाम लगाने की बात होती है तो इसे एक तरह से संविधान पर मंडरा रहे खतरे की तरह पेश किया जाता है.

Comments

You may also like

…तो क्या इसलिए अमरीकियों को बंदूक चाहिए?
Loading...