प्राइवेसी पॉलिसी से दिक्कत है तो छोड़ दे व्हाट्सऐप : फेसबुक – दि फिअरलेस इंडियन
Home / समाचार / प्राइवेसी पॉलिसी से दिक्कत है तो छोड़ दे व्हाट्सऐप : फेसबुक

प्राइवेसी पॉलिसी से दिक्कत है तो छोड़ दे व्हाट्सऐप : फेसबुक

  • hindiadmin
  • April 28, 2017
Follow us on

व्हा्टसऐप यूजर्स के प्राइवेसी मामले पर हुए बवाल के बाद व्हाट्सऐप का रुख कड़ा हो रहा है. व्हा्टसऐप ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में कहा है कि व्हाट्सऐप में एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन है, लेकिन इसके बावजूद जिन यूजर्स को अपनी प्राइवेसी को लेकर परेशानी है वे अपने व्हाट्सऐप को बंद कर सकते हैं.

व्हाट्सऐप की ओर से केके वेनुगोपाल ने कहा व्हाट्सऐप की नयी प्राइवेसी पॉलिसी जिन्हें भी मौलिक अधिकार का हनन लगता है वो ये ऐप छोड़ सकते हैं. हमने अपने यूजर्स को पूरी आजादी दी है, वे व्हाट्सऐप और फेसबुक दोनों ही प्लेटफॉर्म किसी भी समय छोड़ सकते हैं. गौरतलब है कि फेसबुक ने साल २०१४ में व्हाट्सऐप को खरीदा था.

उल्लेखनीय है कि २०१६ में लागू नयी प्राइवेसी पॉलिसी के तहत व्हाट्सऐप फेसबुक के साथ कंज्यूमर डेटा शेयर करता है. याचिकाकर्ता का कहना था कि इससे न सिर्फ उपभोक्ता का ब्यौरा, बल्कि उसकी निजी बातचीत भी गलत हाथों में जा सकती है.

सुप्रीम कोर्ट ने पांच अप्रैल को व्हाट्सएेप प्राइवेसी मामले में सुनवाई के लिए पांच जजों की कंस्टीट्यूशनल बेंच बनाने का फैसला किया था. दरअसल सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में कहा गया है कि फेसबुक और व्हाट्सऐप पर डेटा सुरक्षित नहीं है और यह देश के संविधान के अनुच्छेद २१ का उल्लंघन है. इस मामले में व्हाट्सऐप और फेसबुक को पहले ही नोटिस जारी हो चुका है.

याचिका में व्हाट्सएेप की तरफ से अपनी सहयोगी फेसबुक से उपभोक्ताओं की जानकारी शेयर करने का विरोध किया गया है. याचिकाकर्ता ने इसे निजता के अधिकार का हनन बताया है. बताते चलें कि भारत फेसबुक और वाट्सऐप के लिए सबसे बड़े बाजारों में से एक है, लेकिन सुप्रीम कोर्ट में फेसबुक का लहजा भारत के लोगों के प्रति काफी सख्त नजर आ रहा है.

Comments

You may also like

प्राइवेसी पॉलिसी से दिक्कत है तो छोड़ दे व्हाट्सऐप : फेसबुक
Loading...