OMG- रिलीज के दिन ही इस हिन्दुस्तानी “न्यूटन” को मिला ऑस्कर का टिकट – दि फिअरलेस इंडियन
Home / मनोरंजन / OMG- रिलीज के दिन ही इस हिन्दुस्तानी “न्यूटन” को मिला ऑस्कर का टिकट

OMG- रिलीज के दिन ही इस हिन्दुस्तानी “न्यूटन” को मिला ऑस्कर का टिकट

  • hindiadmin
  • September 22, 2017
Follow us on

22 सितंबर को रिलीज हुई राजकुमार राव की फिल्म न्यूटन भारत की तरफ से विदेशी भाषा की फिल्मों की श्रेणी में ऑस्कर के लिए आधिकारिक एंट्री है. इस फिल्म में लीड रोल राजकुमार राव ने निभाया है. उन्होंने ट्विटर पर इस खबर को शेयर किया. उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा- इस खबर को आपके साथ शेयर करके काफी खुश हूं. इस साल ऑस्कर के लिए न्यूटन भारत की तरफ से आधिकारिक एंट्री है. पूरी टीम को शुभकामनाएं. अमित मासूरकर के निर्देशन में बनी न्यूटन की कहानी एक सरकारी क्लर्क के इर्द-गिर्द घूमती है जो स्वतंत्र और ठीक तरह से नक्सल प्रभावित इलाकों में चुनाव करवाने की भरपूर कोशिश करता है.

फिल्म में पंकज त्रिपाठी, रघुबीर यादव, अंजलि पाटिल, दानिश हुसैन और संजय मिश्रा अहम भूमिकाओं में हैं. न्यूटन को ऑस्कर में भेजने का फैसला शुक्रवार को लिया गया. तेलुगू प्रोड्यूसर सीवी रेड्डी की अध्यक्षता में बनाए गए फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया ने एक बयान में कहा- न्यूटन को कमेटी ने 26 एंट्रीज में से सर्वसम्मति से चुना गया है. कमेटी में मौजूद सभी को यह फिल्म पसंद आई. फिल्म के डायरेक्टर अमित ने कहा- उम्मीद करता हूं कि इससे छत्तीसगढ़ में क्या हो रहा उसकी तरफ ध्यान जाएगा.

स्क्रॉल डॉट इन के साथ हुई बातचीत में अमित मासूरकर ने कहा- हम एक गणतंत्र है. किसी जगह पर यह काम करता है और कहीं पर नहीं. यह काफी अनुचित है. मैं चाहता हूं कि भारत के लोग समझें कि हमारे यहां कुछ खामियां हैं और हमें लगातार सतर्क रहते हुए उन्हें सुधारने के लिए काम करना होगा. मैं न्यूटन को चुनने के लिए कमिटी का बहुत आभारी हूं. आज हमारी फिल्म रिलीज हुई है इस घोषणा की वजह से ज्यादा से ज्यादा लोग थिएटर्स में हमारी फिल्म देखने के लिए आएंगे.

फिल्म की कहानी आपको छत्तीसगढ़ के एक जंगल दण्डकारण्य में ले जाएगी. जहां लोगों ने कभी वोटिंग मशीन नहीं देखी होती है. इसी वजह से उन्हें समझाया जाता है कि वोटिंग मशीन एक खिलौना है जिसमें जो बटन अच्छा लगे उसे दबा दो. जिसका न्यूटन (राजकुमार राव) विरोध करते हैं. उनकी कोशिश होती है कि वो लोगों को चुनाव का मतलब समझा सकें और उन्हें जागरुक बना सकें.

Comments

You may also like

OMG- रिलीज के दिन ही इस हिन्दुस्तानी “न्यूटन” को मिला ऑस्कर का टिकट
Loading...