सोशल मीडिया पर हर बात का हौआ बनाया जाता है- रणदीप हुड्डा – दि फिअरलेस इंडियन
Home / मनोरंजन / सोशल मीडिया पर हर बात का हौआ बनाया जाता है- रणदीप हुड्डा

सोशल मीडिया पर हर बात का हौआ बनाया जाता है- रणदीप हुड्डा

  • hindiadmin
  • June 2, 2017
Follow us on

हाल ही में सोशल मीडिया पर ऐक्टर रणदीप हुड्डा एक मेसेज काफी चर्चा में रहा था, जिसमें उन्होंने कहा था कि हमारा देश दुनिया का सबसे बेहतरीन देश है, क्योंकि यहां आज भी हर जाति, धर्म, संप्रदाय के लोग मिल-जुलकर रहते हैं. उन्होंने सोशल मीडिया के प्रभाव से लोगों को बचकर रहने की सलाह भी दी थी. पिछले दिनों रणदीप दिल्ली आए, तो उन्होंने ऐसे ही कुछ मुद्दों पर बेधड़क होकर अपनी बात रखी:

पिछले दिनों रणदीप हुड्डा ने जब फेसबुक पर यह स्टेटस डाला, तो हर तरफ इसी की चर्चा होने लगी. वैसे तो रणदीप सोशल मीडिया पर ज्यादा ऐक्टिव नहीं रहते हैं, मगर उनके ट्वीट्स और मेसेज अक्सर चर्चा का विषय बन जाते हैं. इस बार भी कुछ ऐसा ही हुआ. खास बात यह है कि जिस वक्त रणदीप सोशल मीडिया पर आपसी एकजुटता की बात कर रहे थे, ठीक उसी वक्त उन्हीं की इंडस्ट्री के सिंगर अभिजीत भट्टाचार्य सोशल मीडिया पर जेएनयू की एक स्टूडेंट्स लीडर के खिलाफ जहर उगल रहे थे, जिसके चलते ट्विटर मैनेजमेंट ने उनका अकाउंट ही बंद कर दिया. उधर अभिजीत का समर्थन करते हुए गायक सोनू निगम ने भी ट्विटर को अलविदा कह दिया. अभी कुछ दिन पहले यही सोनू निगम अज़ान को लेकर अपने ट्वीट्स की वजह से सुर्खियों में रहे थे और उनके खिलाफ फतवा तक जारी हो गया था, जिसके जवाब में उन्होंने अपना सिर मुंडवा लिया था. सोशल मीडिया पर एक ही इंडस्ट्री के अलग-अलग लोगों का यह अलग-अलग रवैया देखकर लोग भी हैरत में हैं.

अभिजीत की भाषा गलत थी:
सिंगर अभिजीत के मुद्दे पर रणदीप ने कहा, ‘अभिजीत जी की भाषा बिल्कुल ठीक नहीं थी, लेकिन दूसरी तरफ के लोगों की भाषा भी ठीक नहीं थी. दुर्भाग्य से उनमें कुछ महिलाएं भी थीं. अब ये भी एक मुद्दा बन गया है कि इस साइड के लोगों को ट्विटर से निकाल गया दिया है, तो दूसरी साइड के लोगों को भी निकालो. मैं तो इस चीज से खुद को विड्रॉ करता हूं. मैं सबसे यही कहता हूं कि यार! गाली-गलौज मत करो, गंदे विडियो शेयर मत करो, अपना दिमाग मत जलाओ. मिल जुलकर रहो. हर बात को ध्यान से सुनो और फिर सोच-समझकर रिऐक्ट करो.’ हालांकि सोनू निगम को लेकर हुए विवाद के सवाल पर रणदीप सोनू के पक्ष में खड़े नजर आए. इस बारे में उनका कहना था कि ‘वो नॉयज पल्यूशन का इशू था. सोनू निगम किसी धर्म की बात नहीं कर रहे थे, मगर उनकी बात का गलत मतलब निकाला गया.’

इसलिए लोगों को दी थी सलाह
रणदीप से जब हमने सवाल किया कि आखिर सोशल मीडिया पर इतना जहर क्यों उगला जाता है? तो उन्होंने कहा, ‘सोशल मीडिया सिर्फ एक भ्रम है. किसी के ट्वीट को लाइक या रीट्वीट करके लोगों को लगता है कि उन्होंने सोसायटी के लिए कुछ कॉन्ट्रिब्यूट कर दिया है और उनका काम हो गया है, जबकि असल में उनका कुछ कॉन्ट्रिब्यूशन कुछ नहीं होता है. यह मेरा निजी अनुभव रहा है. मगर हां, इससे लोगों को बात करने के लिए एक टॉपिक जरूर मिल जाता है. आजकल सोशल मीडिया पर बहुत से ऐसे लोग सक्रिय हैं, जिनका काम ही गंद मचाना है. ऐसे में यह एक पॉलिटिकल टूल बन जाता है. गाली भी सिर्फ एक तरफ से नहीं आती, बल्कि दोनों ही तरफ के लोग गाली-गलौज करने लगते हैं, लेकिन उनकी बहस का कोई सोल्यूशन नहीं निकलता. इसीलिए मैंने लोगों को इससे बचकर रहने की सलाह दी थी.’

हालात इतने भी खराब नहीं हैं:
रणदीप कहते हैं, ‘हमारा देश बहुत शांतिपूर्ण देश है, मगर दूरदराज में हुई किसी एक घटना को लेकर सोशल मीडिया पर कुछ लोग ऐसा हाहाकार मचा देते हैं, जैसे पूरा देश जल रहा हो. मुझे भी कुछ समय से यही महसूस होने लगा था, मगर जब मैंने सहारनपुर के, कश्मीर के लोगों से बात की, तो पता चला कि ऐसा कुछ नहीं है. कश्मीर में मैंने कई लोकल लोगों से, वहां के डीसी और एमएलए से, आर्मी वालों से बात की और मुझे पता चला कि कश्मीर के २२ जिलों में से सिर्फ ढाई जिलों में प्रॉब्लम चल रही है, लेकिन यहां सोशल मीडिया या न्यूज में देखकर ऐसा लगता है कि पूरा कश्मीर जल रहा है. सोशल मीडिया पर जबरन हर बात का हौआ बनाया जा रहा है. इसीलिए मैंने इसके खिलाफ अपनी बात रखी, ताकि मैं लोगों को थोड़ा जागरूक कर पाऊं. मैंने लोगों से यही कहा कि अपनी निजी जिंदगी में देखो. अपने आस-पास देखो. सब ठीक है ना? तो फिर ऐसा हाहाकार मत मचाओ. क्या है ना, कि इन सब चीजों से यंग लोग बहुत जल्दी प्रभावित हो जाते हैं. सोशल मीडिया पर सबसे बड़ी तादाद भी उन्हीं की है. तो मैं उन्हें यही समझाने की कोशिश कर रहा था कि आप गाली-गलौज मत करो. आप अदब से अपनी बात रखो, बहस करो, लेकिन गाली-वाली मत दो यार!’

बस जाधव को वैसा टॉर्चर ना करें:
रणदीप ने कुछ समय पहले पाकिस्तान की जेल में बंद रहे भारतीय नागरिक सरबजीत सिंह के जीवन पर बनी फिल्म ‘सरबजीत’ में सरबजीत सिंह का किरदार निभाया था. इन दिनों पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव का मामला भी उसी तरह गरमाया हुआ है. इस मसले पर रणदीप ने कहा, ‘सरबजीत के समय भी ईगो की बात आ गई थी और अब जाधव के मामले में भी ऐसा हो रहा है. यह अब एक सियासी मसला बन गया है और इसमें वो बेचारा जाधव फंस गया है. मैं प्रार्थना कर रहा हूं कि सरबजीत जैसी ज्यादती उसके साथ ना हो. उसे वैसी यातनाएं ना दी जाएं. हालांकि हिंदुस्तान की हुकूमत ने इस मामले को इंटरनैशनल कोर्ट में ले जाकर बहुत बोल्ड और सराहनीय कदम उठाया है. अगर सरबजीत के वक्त भी ऐसा होता, तो शायद सरबजीत भी बच जाता. मुझे लगता है कि वो लोग अब जाधव को मारेंगे तो नहीं, लेकिन शायद उसे छोड़ें भी नहीं. पता नहीं कब तक उसे जेल में बंद करके रखेंगे. सरबजीत को भी उन्होंने १८ साल तक कालकोठरी में बेड़ियों से बांधकर रखा था.’

Comments

You may also like

सोशल मीडिया पर हर बात का हौआ बनाया जाता है- रणदीप हुड्डा
Loading...