भारत,पाकिस्तान और चीन समेत यह १० देश है जो HIV संक्रमण में आगे है…! – दि फिअरलेस इंडियन
Home / समाचार / भारत,पाकिस्तान और चीन समेत यह १० देश है जो HIV संक्रमण में आगे है…!

भारत,पाकिस्तान और चीन समेत यह १० देश है जो HIV संक्रमण में आगे है…!

  • Shyam kadav
  • July 27, 2017
Follow us on

HIV मतलब एड्स विश्व की कई सारी खतरनाक बिमारिओं में से एक है. दरअसल एड्स के लिए आज तक कोई असरदार दवाई बनी नहीं है और इसी के कारण एड्स से मरने वालों की तादात भारत में बहुत है. जो किस मृत्यु का दर इस साल काम हो गया है. संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट माने तो साल २०१६ में एशिया और प्रशांत क्षेत्र में सामने आए एचआइवी संक्रमणों के ९५ प्रतिशत से ज्‍यादा मामले भारत, चीन और पाकिस्‍तान समेत १० देशों में पाए गए है.

एड्स के बढ़ते संक्रमण के ऊपर संयुक्त राष्ट्र के एचआईवी, यूएनएड्स पर साझा कार्यक्रम ‘एंडिंग एड्स’ की रिपोर्ट में यह बात सामने आई हैं. इस कार्यक्रम को गति देने के लिए साल २०१४ में ९०-९०-९० लक्ष्‍य रखा गया था. इसका लक्ष्‍य है कि साल २०२० तक ९० प्रतिशत एचआईवी संक्रमित लोगों को उनकी स्थिति पता है. हलाकि एचआईवी पीडि़त लोगों में से ९० प्रतिशत एंटीरेट्रोवाइरल थेरेपी (एआरटी) कराने के लिए पहुंच रहे हैं और हैरत की बात यह है की एआरटी लेने वालों में से ९० प्रतिशत के वायरस दब गए हैं. ऐसा पहली बार देखने को मिला है, जब एचआइवी से पीडि़त आधे से ज्‍यादा लोगों तक इलाज पहुंच रहा है. इसी इलाज के कारण एड्स से होने वाली मौतों में २००५ से अब तक ५० फीसद का अंतर आया है.

साल २०१६ में एचआइवी संक्रमण के सबसे  ज्‍यादा मामले भारत, चीन, इंडोनेशिया, पाकिस्तान, वियतनाम, म्यांमार, पापुआ न्यू गिनी, फिलीपींस, थाईलैंड और मलेशिया में सामने आए हैं ऐसा यूएन की इस रिपोर्ट से सामने आया है. एड्स के संक्रमण वाले इन १० देशों ने २०१६ में इस क्षेत्र में सभी नए एचआईवी संक्रमणों का ९५ प्रतिशत से अधिक हिस्सा लिया. लेकिन एशिया और प्रशांत क्षेत्र में नए एचआईवी संक्रमणों की वार्षिक संख्या में पिछले छह वर्षों में १३% की कमी आई है, जो २०१० में ३१०,००० से २०१६ में घटकर २,७०,००० हो गई है. यह बहुत ही अच्छी खबर है. एड्स के प्रति सभी लोगों की जनजागृति हो रही है और इसके नतीजे घटते दर से सामने आ रहे है.

 

 

Comments

You may also like

भारत,पाकिस्तान और चीन समेत यह १० देश है जो HIV संक्रमण में आगे है…!
Loading...