ब्रिटेन ने दाऊद इब्राहीम को दिया बड़ा झटका – दि फिअरलेस इंडियन
Home / राष्ट्रवाद / ब्रिटेन ने दाऊद इब्राहीम को दिया बड़ा झटका

ब्रिटेन ने दाऊद इब्राहीम को दिया बड़ा झटका

  • hindiadmin
  • September 14, 2017
Follow us on

ब्रिटेन में दाऊद इब्राहिम की संपत्तियों को जब्त करने की खबरों पर केंद्र सरकार की कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं आई है. हालांकि विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने केरल में सवालों के जवाब में कहा कि हम सारे राज खोल नहीं सकते. केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने तिरुवनंतपुरम में पत्रकारों से कहा कि हम दाऊद के बारे में बात नहीं करेंगे, फिर भी कुछ चीजें हो रही हैं, लेकिन हम सारी बातों को सामने नहीं ला सकते.

दाऊद को लाने के लिए पाक पर चौतरफा दबाव बनाना होगा-
मुंबई बम विस्फोट के गुनहगार दाऊद इब्राहिम को गिरफ्त में लेने के लिए भारत को दुनिया के देशों का साथ लेना होगा. सुरक्षा और रणनीतिक मामलों के जानकार मानते हैं कि दाऊद को पकड़ पाना आसान काम नहीं है, क्योंकि वह पाकिस्तान की शरण में है.
विशेषज्ञों का कहना है कि पाकिस्तान सेना और आईएसआई उसे पूरा संरक्षण देती है, लेकिन पाकिस्तान कभी भी इसे स्वीकार नहीं करता. इसलिए तथ्यों और सबूतों के साथ दुनिया के देशों को इस बात के लिए राजी करना होगा कि वे पाकिस्तान पर दबाव बनाएं. सुरक्षा मामलों के जानकार सुशांत सरीन का कहना है कि पाकिस्तान में बैठा दाऊद अंतराष्ट्रीय अपराधी है. उस पर शिकंजा कसने के लिए अमेरिका सहित दुनिया के अन्य देशों का दबाव काम आ सकता है. उन्होंने कहा कि भारत को खुद भी ऐसी ताकत विकसित करना चाहिए कि वह दाऊद को पाकिस्तान के चंगुल से निकाल सके.

दिखानी होगी ताकत-
सरीन ने कहा कि यह मानना बेवकूफी होगी कि पाकिस्तान हमें दाऊद को आसानी से सौंप देगा. इसके लिए पाकिस्तान को यह डर होना चाहिए कि अगर वह दाऊद को हमें नहीं सौंपता को उसके लिए उल्टा पड़ सकता है. सरीन ने कहा कि भारत को अपने सैकड़ों लोगों की मौत के लिए जिम्मेदार दाऊद पर कार्रवाई की अपनी क्षमता बतानी होगी.

भारत का बना हुआ है दबाव-
विशेषज्ञों का मानना है कि भारत अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दबाव बना रहा है. उसके प्रयासों से ही दुबई और सऊदी अरब में दाऊद की बेरोकटोक गतिविधियों पर रोक लगी है. दुनिया के कई अन्य देशों में गिरफ्तारी के डर से दाऊद ज्यादातर समय कराची में रहता है. ब्रिटेन और यूएई ने भारत के साथ इस मामले में सहयोग बढ़ाया है.

पाकिस्तान के भीतर भी कार्रवाई की जरूरत-
विशेषज्ञ मान रहे हैं कि आतंकवाद को लेकर दुनिया के तमाम देशों से बढ़ रहे सहयोग का असर धीरे धीरे नजर आएगा. दाऊद की दुनिया भर में संपत्तियों को चिन्हित करके कार्रवाई के साथ पाकिस्तान पर भी दबाव बनाया जाना चाहिए कि वह दाऊद के सभी वित्तीय लेनदेन पर रोक लगाए. यह संभव है अगर दुनिया के देश इस मामले में भारत का साथ दें.

Comments

You may also like

ब्रिटेन ने दाऊद इब्राहीम को दिया बड़ा झटका
Loading...