कार्यवाई करने के लिए मतभेद नहीं करेंगे, अगर पत्थर बाजी करनेवालों को खतरा पैदा होता है तो सुरक्षा बलों को चेतावनी दी जायेगी – दि फिअरलेस इंडियन
Home / समाचार / कार्यवाई करने के लिए मतभेद नहीं करेंगे, अगर पत्थर बाजी करनेवालों को खतरा पैदा होता है तो सुरक्षा बलों को चेतावनी दी जायेगी

कार्यवाई करने के लिए मतभेद नहीं करेंगे, अगर पत्थर बाजी करनेवालों को खतरा पैदा होता है तो सुरक्षा बलों को चेतावनी दी जायेगी

  • hindiadmin
  • March 30, 2017
Follow us on

कार्यवाई करने के लिए मतभेद नहीं करेंगे, अगर पत्थर बाजी करनेवालों को खतरा पैदा होता है तो सुरक्षा बलों को चेतावनी दी जायेग

सीआरपीएफ और स्थानीय पुलिस ने पथराव करनेवालोंन पर आग लगा दी, तीनों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए. सुरक्षा बलों का मानना ​​है कि वे पत्थर के पेल्टर से निपटने में अधिकतम संभव प्रतिबंध का प्रयोग करते हैं, लेकिन यदि वे ऑपरेशन के लिए खतरा पैदा करते हैं या सैनिकों में भाग लेते हैं, तो सख्त कार्रवाई करने में संकोच नहीं करेंगे.
केंद्रीय कश्मीर के बडगाम जिले के एक घर में एक आतंकवादी के खिलाफ एक अभियान चलाते समय सीआरपीएफ और स्थानीय पुलिस ने पत्थर के पटरियों पर आग लगाई, तीनों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए. कई सुरक्षा बलों के कर्मचारी भी घायल हो गए.

 

the fearless indian

 

“भारतीय दंड संहिता हमें आत्मरक्षा में कार्य करने का अधिकार देती है अगर हमें लगता है कि या तो हमारी सेना या सार्वजनिक संपत्ति खतरे में है इसके अलावा, अगर ऐसे प्रदर्शनकारियों को भविष्य में ऐसा करना जारी रहता है, तो हम अधिकतम प्रतिबंध लगाएंगे, लेकिन ऐसी कार्रवाई को दोहराने में संकोच नहीं करेंगे.
बड़गाम मुठभेड़ में, प्रदर्शनकारि सैनिकों के करीब आ रहे थे और उन्होंने या तो सैनिकों से राइफलों को छीनने की कोशिश की थी या सेना के लिए गंभीर चोट लगने की संभावना थी. ” “यदि आप विरोधियों को बहुत करीब आने की अनुमति देते हैं, तो वे मोलोटोव कॉकटेल या एसिड के साथ पत्थर की जगह ले सकते हैं.
कश्मीर घाटी में तैनात एक सेना के सूत्र ने कहा की हम अपने सैनिकों की सुरक्षा या सुरक्षा की अनदेखी नहीं कर सकते. सेना के सूत्रों ने कहा कि युवाओं को विरोध स्थल के बारे में सोशल मीडिया वेबसाइटों पर संदेश मिलता है.
सेना प्रमुख जनरल बिपीन रावत ने पहले ही सशस्त्र बलों के कार्यों में बाधा डालने वाले लोगों को चेतावनी जारी की थी और उन्हें दृढ़ता से पेश किया जाएगा स्थिति का आकलन करने के लिए बांग्लादेश से लौटने के बाद रावत कश्मीर घाटी की यात्रा करने की संभावना है.

 

 

 

Comments

You may also like

कार्यवाई करने के लिए मतभेद नहीं करेंगे, अगर पत्थर बाजी करनेवालों को खतरा पैदा होता है तो सुरक्षा बलों को चेतावनी दी जायेगी
Loading...